PSU Watch logo

header-ad
header-ad
| GAIL records 80% drop in PAT in Q1 FY'2020-21 at Rs 256 crore |   | PFC Q1 Consolidated PAT up 23 percent at Rs 3,557 crore |   | Govt grants 5 months’ extension to RE projects under implementation |   | Rajnath Singh launches 15 products developed by Defence PSUs and OFB |   | NHAI forms SPV for Delhi-Mumbai 'Greenfield' Expressway project |   | Up to sale, BPCL nearly doubles Q1 standalone net profit |   | RLDA invites bid to develop railways' land in Howrah |   | Foundation laid for Rs 1,000 cr pvt rail coach factory near Hyderabad |  

छत्तीसगढ़: सीएम बघेल की पहल पर लोगों को घर बैठे मिल रहा जाति प्रमाण-पत्र

छत्तीसगढ़ प्रशासन ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के निर्देश पर त्वरित अमल करते हुए लोगों को घर बैठे जाति प्रमाण-पत्र देने की योजना को अमली जामा पहना दिया है लिहाजा अब छत्तीसगढ़ में लोगों को तहसील के चक्कर लगाने से मुक्ति मिल गयी है

Chhattisgarh begins home delivery of caste certificate: CM Bhupesh Baghel

रायपुर: (छत्तीसगढ़ न्यूज) बलौदाबाजार तहसील के ग्राम शुक्लाभाटा की कक्षा 6वीं की छात्रा कुमारी पूर्वी वर्मा को उसके आवेदन के 10 दिन के भीतर स्पीड पोस्ट के माध्यम से जैसे ही उसे जाति प्रमाण-पत्र मिला तो बेहद खुश हो गई. पूर्वी के माता-पिता ने शासन द्वारा घर पहुंच जाति प्रमाण-पत्र की व्यवस्था के लिए मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल का आभार व्यक्त किया. पूर्वी के पिता योगेश वर्मा का कहना था कि एक समय था कि जाति प्रमाण-पत्र के लिए महीनों पटवारी और तहसील कार्यालय के चक्कर लगाने पड़ते थे, मिन्नतें करनी पड़ती थीं. जाति प्रमाण-पत्र बनाने की सहज प्रक्रिया के लिए भी उन्होंने प्रशासन को धन्यवाद दिया.

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की मंशा के मद्देनजर अब राजस्व विभाग का अमला जाति प्रमाण-पत्र बनाने के काम को बड़ी संजीदगी से अंजाम देने लगा है. जाति प्रमाण-पत्र के लिए अब लोगों को पटवारी और तहसील कार्यालय का चक्कर लगाने की जरूरत नहीं रह गई है। लोगों को सिर्फ उनके आवेदन पर जाति प्रमाण-पत्र घर बैठे स्पीड पोस्ट के माध्यम से मिलने लगे हैं. राज्य में स्पीड पोस्ट के माध्यम से जाति प्रमाण-पत्र उपलब्ध कराने का सिलसिला शुरू हो चुका है.

पूर्वी के पिता योगेश वर्मा ने बताया कि उन्होंने 29 जून को तहसील कार्यालय स्थित लोक सेवा केंद्र के माध्यम से आवेदन किया था. आवेदन करने के बाद 10 दिनों में ही प्रमाण-पत्र मिल गया. इसके लिए उन्हें तहसील कार्यालय जाने की जरूरत भी नहीं पड़ी. तहसीलदार बलौदाबाजार ने बताया कि जाति प्रमाण-पत्र घर पहुंचाकर दिए जाने की शुरूआत पूर्वी वर्मा को स्पीड पोस्ट के माध्यम से उसका जाति प्रमाण-पत्र भेजकर की गई. उन्होंने बताया कि जिले के सभी तहसील कार्यालयों द्वारा अब आवेदकों को अब उनके आवेदन पर जाति प्रमाण-पत्र जारी कर स्पीड पोस्ट के माध्यम से उनके पते पर भेजा जा रहा है.

(PSU Watch- पीएसयू वॉच भारत से संचालित होने वाला  डिजिटल बिज़नेस न्यूज़ स्टेशन  है जो मुख्यतौर पर सार्वजनिक उद्यम, सरकार, ब्यूरॉक्रेसी, रक्षा-उत्पादन और लोक-नीति से जुड़े घटनाक्रम पर निगाह रखता है. टेलीग्राम पर हमारे चैनल से जुड़ने के लिए Join PSU Watch Channel पर क्लिक करें)