PSU Watch logo

| BEML posts highest-ever turnover of Rs 3,557 crore during FY 2020-21 |   | NCL extends Rs 10 crore to MP govt for setting up 5 oxygen plants |   | ‘With commercial auction tranche 2, govt moving towards rolling auction of coal mines’ |   | Only one-eighth of India’s target to deploy 2 mn solar pumps achieved so far: IEEFA |  

सेल का पीएम केयर्स फंड में 30 करोड़ रुपए का योगदान

स्टील अथॉरिटी ऑफ इंडिया (सेल) के कर्मचारियों की एक दिन की सैलरी समेत महारत्न स्टील पीएसयू ने पीएम केयर्स फंड में 30 करोड़ रुपये का योगदान दिया

नई दिल्ली: सार्वजनिक क्षेत्र की सबसे बड़ी स्टील उत्पादक कंपनी महारत्न, स्टील अथॉरिटी ऑफ इंडिया लिमिटेड (सेल) ने पीएम केयर्स फंड (PM CARES FUND) में 30 करोड़ रुपये का योगदान करके कोरोना बीमारी के खिलाफ लड़ाई में महत्वपूर्ण योगदान किया है। ऐसे समय में, जब पूरा देश इस आपात स्थिति से निपट रहा है, सेल कार्मिकों ने भी मदद के लिए आगे हाथ बढ़ाया है और अपनी एक दिन की सैलरी, जो करीब 9 करोड़ रुपये की राशि के बराबर है, का पीएम केयर्स फंड में योगदान दिया है। इस मौके पर स्टील महारत्न पीएसयू के चेयरमैन अनिल कुमार चौधरी ने कहा, “यह कोरोना वायरस के आपातकाल से निपटने की लड़ाई में कंपनी और उसके कार्मिकों का योगदान है। हम हर संभव तरीके से राष्ट्र की सेवा के लिए समर्पित और प्रतिबद्ध हैं। इसके साथ ही, हम इस "आपातकालीन चिकित्सा स्थिति" से लड़ने के लिए संबंधित राज्य सरकारों के स्थानीय अधिकारियों के साथ मिलकर विभिन्न स्वास्थ्य सेवाओं को न केवल मुहैया कराया है बल्कि उसमें वृद्धि भी की है।"

सेल के बोकारो स्टील प्लांट ने भी मदद का हाथ आगे बढ़ाया है। कोरोना वायरस से बचाव हेतु देश व्यापी लॉकडाउन के दौरान गरीबों एवं ज़रूरतमंदों को मदद पहुंचाने के उद्देश्य से सेल, बोकारो स्टील प्लांट ने जिला आपदा राहत कोष में पच्चीस लाख रुपए की सहयोग राशि दी है। 31 मार्च को बीएसएल अधिकारियों ने उपायुक्त, बोकारो को 25 लाख रुपए का चेक दिया।

“यह कोरोना वायरस के आपातकाल से निपटने की लड़ाई में कंपनी और उसके कार्मिकों का योगदान है। हम हर संभव तरीके से राष्ट्र की सेवा के लिए समर्पित और प्रतिबद्ध हैं- अनिल कुमार चौधरी, चेयरमैन, स्टील अथॉरिटी ऑफ इंडिया

इस लॉकडाउन के दौरान, कंपनी ने उत्पादन में कटौती के बावजूद, आवश्यक निवारक और सुरक्षा उपायों को अपनाने के बाद, अपने ज़रूरी संयंत्रों और उपकरणों को न्यूनतम मैनपावर के साथ चालू रखा है। कंपनी ने आईसीयू बेड, आइसोलेशन बेड, क्वारन्टीन सुविधाएं, बड़ी मात्रा में सैनिटाइजर, पीपीई, मास्क आदि सहित कई चिकित्सा सुविधाएं अपने अस्पतालों और अपने संयंत्रों और इकाइयों में कार्यस्थलों पर उपलब्ध कराई हैं।