प्लाज़्मा डोनेट करने वालों को खुद फोन कर शुक्रिया कह रहे हैं अरविंद केजरीवाल

  • दिल्ली में बना है देश का पहला प्ला़ज़्मा बैंक

  • CM अरविंद केजरीवाल फोन करके प्लाज़्मा देने वालों को कह रहे हैं शुक्रिया

  • कोरोना के कई मामलों में मौत के नज़दीक पहुंच चुके मरीजों को भी बचाने में प्लाज़्मा थेरेपी कारगर रही है

नई दिल्ली: (दिल्ली न्यूज) दिल्ली के CM अरविंद केजरीवाल नए-नए तरीकों का प्रयोग कर कोरोनावायरस संक्रमण से ठीक हो चुके लोगों को प्लाज़्मा डोनेट करने के लिए प्रोत्साहित कर रहे हैं. इन दिनों इसके लिए CM केजरीवाल प्लाज़्मा डोनेट कर चुके लोगों को सीधे फोन कर रहे हैं. फोन पर मुख्यमंत्री लोगों का शुक्रिया अदा कर रहे हैं. आम आदमी पार्टी मुखिया और सीएम केजरीवाल ने खुद ही ये बात बताई है कि "जब मैंने प्लाज्मा दान करने वालों की कहानी सुनी तो मुझे अपने दिल्लीवासियों पर गर्व हुआ. यही वजह है कि मैंने फोन कर उन्हें ऐसा नेक काम करने के लिए बधाई दी". केजरीवाल ने दो प्लाज्मा दानकर्ताओं सृष्टि और भूमिका से बातचीत का पूरा ऑडियो भी शेयर किया है.

अरविंद केजरीवाल के साथ फोन पर हुई बातचीत में सृष्टि बताती हैं कि पांच दिन पहले ही वो कोरोना वायरस संक्रमण के खिलाफ जंग जीतकर लौटी हैं. इसके बाद एक-दो दिन के भीतर ही उन्होंने प्लाज्मा दान कर दिया. कई लोग प्लाज़्मा डोनेट करने इस भय से भी नहीं जाते कि बीमारी के बाद उनमें अब कमज़ोरी आ जाएगी या फिर उनकी रोग-प्रतिरोधक क्षमता कम हो जाएगी. फोन पर सृष्टि ने साफ कहा कि प्लाज्मा दान करने के बाद उन्हें किसी तरह की कमजोरी महूसूस नहीं हुई.

इससे पहले गुरूवार को भी अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली प्लाज्मा बैंक में प्लाज्मा दान करने गए एक व्यक्ति के ट्वीट को फोटो सहित रिट्वीट कर केजरीवाल ने लिखा- 'यही दिल्ली के हीरो हैं।' इससे पहले भी केजरीवाल प्लाज्मा दान करने के लिए लोगों से कभी ट्वीट के जरिए तो कभी फोन करके अपील करते रहे हैं।

दिल्ली में सरकार ने देश का पहला प्लाज़्मा बैंक बनाया है. प्लाज्मा थेरेपी के लिए सरकार ने एक प्रोटोकॉल भी बनाया है. प्लाज्मा थेरेपी उसी मरीज को दी जा सकती है जो प्रोटोकॉल की शर्तों के अधीन आता है. हर कोरोना मरीज को ये थेरेपी नहीं दी जा सकती है. कई मामलों में मौत के नज़दीक पहुंच चुके मरीजों को भी बचाने में ये थेरेपी कारगर रही है. केजरीवाल दिल्लीवालों से पहले भी कह चुके हैं कि अगर आप लोग प्लाज्मा दान नही करेंगे तो बैंक कैसे चलेगा. उन्होंने कहा की दूसरों की जान बचाने के लिए जिंदगी में बहुत कम लोगों को मौके मिलते हैं. आपके प्लाज्मा दान करने से दूसरे लोगों की जान बच सकती है. उधर, प्लाज्मा दान करने वालों की कमी को देखते हुए दिल्ली सरकार ने आदेश जारी किया है. जिसमें अस्पतालों से प्लाज्मा दान करने वालों को भेजने के लिए कहा गया है.

(PSU Watch– पीएसयू वॉच भारत से संचालित होने वाला  डिजिटल बिज़नेस न्यूज़ स्टेशन  है जो मुख्यतौर पर सार्वजनिक उद्यम, सरकार, ब्यूरॉक्रेसी, रक्षा-उत्पादन और लोक-नीति से जुड़े घटनाक्रम पर निगाह रखता है. टेलीग्राम पर हमारे चैनल से जुड़ने के लिए Join PSU Watch Channel पर क्लिक करें)