PSU Watch logo

| Govt aiming for 5G services launch by Aug 15 next year |   | COAI urges the government to reduce the 5G spectrum base price by more than half |   | RBI's recent norms on income recognition, asset classification, and provisioning may spike NPAs for NBFCs, says ICRA |   | Centre's proposed cryptocurrency 'regulation' may shift investors to equity |   | Indian Oil's Mathura refinery receives environmental clearance for expansion project |  

कोरोना महामारी में भी मोर्चे पर डटे हैं वेकोलि के कोयला-कर्मी

कोरोना महामारी के बावज़ूद टीम वेकोलि के सदस्य अपने दायित्व-निर्वहन में लगातार लगे हैं, ताकि ऊर्जा-जरूरतों की आपूर्ति बदस्तूर होती रहे

Unaffected of the ongoing Covid-19 pandemic that has gripped India, the WCL coal warriors are constantly discharging their duties
Unaffected of the ongoing Covid-19 pandemic that has gripped India, the WCL coal warriors are constantly discharging their duties

नागपुर: कोरोना महामारी के बावज़ूद टीम वेकोलि के सदस्य अपने दायित्व-निर्वहन में लगातार लगे हैं, ताकि ऊर्जा-जरूरतों की आपूर्ति बदस्तूर होती रहे और रेलगाड़ी का परिचालन सुगमता से जारी रहे तथा संकट के इस दौर में अस्पतालों में बिजली की  कमी न हो और मरीजों का इलाज निर्बाध रूप से चलता रहे.

कोयला- उत्पादन का अपना प्रमुख दायित्व निभाते हुए, कोरोना - संक्रमण की वर्तमान आपदा से निपटने के लिए भी वेकोलि हर स्तर पर प्रयास करते हुए अपना योगदान कर रही है. कम्पनी के अस्पतालों में 264 बेड कोरोना से संक्रमित लोगों के लिए सुरक्षित हैं. क्षेत्रों के सभी अस्पतालों में ऑक्सीजन और एम्बुलेंस की सुविधा 24 X 7 उपलब्ध हैं. WCL के हॉस्पिटल्स में इलाज़ के बाद 911 लोग ठीक होकर अपने घर लौटे हैं. कर्मियों एवं उनके आश्रितों सहित 18,171 लोगों को कोरोना का टीका लगवाया जा चुका है. बड़ी संख्या में RT-PCR, Antigen Test और Vaccination आदि कराये जा रहे  हैं. सभी कार्य-स्थलों एवं कॉलोनी में नियमित रूप से Sanitization कराया जा रहा है.

इसका भी ज़िक्र प्रासंगिक है कि टीम वेकोलि के सदस्य बड़ी संख्या में स्वेच्छा से प्लाज़्मा एवं रक्त-दान के लिए स्वयं आगे आ रहे हैं. वणी क्षेत्र के घुघुस स्थित राजीव रतन केन्द्रीय अस्पताल के वातानुकूलित कोविड केयर यूनिट में 28 बेड उपलब्ध हैं. ज़रूरत पड़ने पर आइसोलेशन के लिए कॉलोनी तथा OB Camp में भी व्यवस्था तैयार रखी गयी है. माजरी क्षेत्र ने वरोरा अस्पताल को 100 बेड दिये हैं. क्षेत्र की एकता नगर कॉलोनी और सामुदायिक भवन में भी आइसोलेशन सेंटर उपयोग में लाया जा रहा है.

और पढ़ें: पराक्रम दिवस: टीम वेकोलि ने दी नेताजी सुभाषचंद्र बोस को आदरांजलि, किया रक्तदान
 
CSR के तहत नागपुर के जिलाधिकारी को GMC तथा IGMC में ऑक्सीजन प्लांट लगाने के लिए आंशिक भुगतान के रूप में 2.05 करोड़ रूपये उपलब्ध कराये गये हैं . चंद्रपुर के जिलाधिकारी को 3.5  करोड़ रूपये ऑक्सीजन प्लांट के उपकरणों की आपूर्ति के लिए कम्पनी देनेवाली हैं. पाथाखेड़ा क्षेत्र के महाप्रबंधक ने CSR के तहत बैतूल के जिलाधिकारी को 25 लाख रूपये तथा पेंच क्षेत्र और  कन्हान क्षेत्र के महाप्रबंधक ने छिंदवाड़ा जिला के कलेक्टर को 25 लाख रूपये का चेक प्रदान किया, जिसका उपयोग कोविड 19 से बचाव के लिए किया जायेगा.

वेकोलि ने अपने सभी 10 क्षेत्रों को 10-10 लाख रूपये कोविड-19 से मुकाबले और त्वरित कार्रवाई  के लिए उपलब्ध कराये हैं. कोविड 19 से निपटने के लिए कम्पनी  2021-22 में CSR के अंतर्गत अभी तक 7 करोड़ 5 लाख 50 हज़ार रूपये खर्च कर चुकी है.

उल्लेखनीय है कि पिछले वर्ष भी वेकोलि ने नागपुर, चंद्रपुर, यवतमाल, छिंदवाडा और बैतूल के जिलाधिकारियों को 25-25 लाख रूपये उपलब्ध कराये थे.

(Disclaimer: This story is a press release and is being published without any editing by PSU Watch desk. Our editorial team has only changed the headline)

(PSU Watch- पीएसयू वॉच भारत से संचालित होने वाला  डिजिटल बिज़नेस न्यूज़ स्टेशन  है जो मुख्यतौर पर सार्वजनिक उद्यम, सरकार, ब्यूरॉक्रेसी, रक्षा-उत्पादन और लोक-नीति से जुड़े घटनाक्रम पर निगाह रखता है. टेलीग्राम पर हमारे चैनल से जुड़ने के लिए Join PSU Watch Channel पर क्लिक करें. ट्विटर पर फॉलो करने के लिए Twitter Click Here क्लिक करें)