Sunday, August 7, 2022

SECL ने बीते पांच सालों में तीस हजार करोड़ रू. की जीएसटी जमा की

आपको बता दें कि वित्तीय वर्ष 2021-22 में एसईसीएल ने रू. 6000 करोड़ से ज्यादा की जीएसटी राशि भरी है जबकि बीते चार सालों में यह रकम 22,000 करोड़ रुपए से अधिक की है

Must read

New Delhi/ Bilaspur: छत्तीसगढ़ से परिचालित होने वाले पीएसयू साऊथ ईस्टर्न कोलफील्ड्स लिमिटेड यानी एसईसीएल ने अपने आप में एक अनोखा रिकॉर्ड कायम किया है. कोल इंडिया लिमिटेड की सब्सिडरी कंपनी या सहायक कंपनी एसईसीएल ने बीते पांच सालों में तीस हजार करोड़ रुपए से अधिक की जीएसटी राशि जमा की है.

राष्ट्रनिर्माण में दिए गए इस अनूठे योगदान के लिए एसईसीएल को वित्त मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा प्रशंसा पत्र दिया गया है. वित्तीय वर्ष 2021-22 के समयबद्ध तरीके से जीएसटी फाईलिंग करने के लिए एसईसीएल को ये प्रशंसा पत्र दिया गया है. यह प्रशस्ति पत्र चुनिंदा संस्थाओं को समय से तथा नियमानुसार जीएसटी रिटर्न दाखिल करने के लिए जारी किया जाता है.

Alt="SECL deposits Rs 30,000 crore GST"
वित्तीय वर्ष 2021-22 में एसईसीएल ने जीएसटी के रूप में Rs 6,000 करोड़ रूपये से अधिक का भुगतान किया है (File Photo of the SECL HQ)

आपको बता दें कि वित्तीय वर्ष 2021-22 में एसईसीएल ने रू. 6000 करोड़ से ज्यादा की जीएसटी राशि भरी है जबकि बीते चार सालों में यह रकम 22,000 करोड़ रुपए से अधिक की है. इस तरह बीते पांच सालों में एसईसीएल ने कुल जमा तीस हजार करोड़ रुपए सरकारी खजाने में जीएसटी के तौर पर जमा किए हैं.

इस उपलब्धि पर सीएमडी एसईसीएल डॉ. प्रेम सागर मिश्रा अतिरिक्त प्रभार निदेशक (वित्त) एसईसीएल, महाप्रबंधक वित्त सह लोक सेवा उद्यम बोर्ड द्वारा एसईसीएल के निदेशक वित्त हेतु अनुशसित श्री जी. श्रीनिवासन, उप महाप्रबंधक (वित्त) श्री अजय पाण्डे सहित वित्त विभाग की टीम ने वित्त विभाग के समस्त अधिकारी-कर्मचारियों को बधाई दी है. सीएमडी मिश्रा ने कहा है कि हुए कहा कि यह सफलता हमारे क्षेत्रों व मुख्यालय में कार्यरत वित्त विभाग के अधिकारी-कर्मचारियों की तत्परता व मेहनत का परिणाम है.

(PSU Watch– पीएसयू वॉच भारत से संचालित होने वाला  डिजिटल बिज़नेस न्यूज़ स्टेशन  है जो मुख्यतौर पर सार्वजनिक उद्यम, सरकार, ब्यूरॉक्रेसी, रक्षा-उत्पादन और लोक-नीति से जुड़े घटनाक्रम पर निगाह रखता है. टेलीग्राम पर हमारे चैनल से जुड़ने के लिए Join PSU Watch Channel पर क्लिक करें. ट्विटर पर फॉलो करने के लिए Twitter Click Here क्लिक करें)

- Advertisement -

More articles

- Advertisement -

Latest News